भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Agricultural Entomology (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें
Please click here to view the introductory pages of the dictionary

< previous12Next >

Dactylopodite

अंगुलि पादांश
संधिपाद के सामान्यीकृत उपांग का अंतस्थ खंड ।

Damage

क्षति
नाशक जीव अथवा पीड़क से होने वाली आभासी क्षति ।

Dayer’s law

डायर नियम
इल्लियों का सिर सम्पुटक ज्यामितीय श्रेढ़ी (geometrical progression) में बढ़ता है । प्रत्येक निर्मोक के बाद सिर चौड़ाई में ऐसे अनुपात (प्राय: 1:4) में बढ़ता है जो जाति विशेष के लिये नियत होता है । कई कीटों में प्रत्येक निर्मोक के बाद होने वाली वृद्धि की दर में इस आनुभविक नियम (empirical rule) द्वारा पूर्व सूचना मिल सकती है। इस नियम से इन्स्टारों की संख्या की पूर्व सूचना नहीं मिल सकती ।

Dead heart

मृत केंद्र
प्ररोह तथा तना – भेदक कीटों के प्रकोप से नवोद्‍भिदों में मुख्य शाखा का सूखना अथवा बालियों के सूखने से सफेद बालियों का बनना ।

Decomposer

अपघटक
वे परपोषित जीव जो अपघटन द्वारा मृत कार्बनिक पदार्थ के भंजन से बने उत्पादों का, पोषण के लिए अवशोषण कर लेते हैं । इन्हें मृतजीवी भी कहते हैं ।

Decticous pupa

सक्रियचिबुक कोशित
एक आदिम प्रकार का कोशित (pupa) जो सदा अबद्ध होता है अर्थात् इसके उपांग शेष शरीर में जुड़े नहीं होते । इनका प्रयोग गमन के लिए किया जा सकता है । इनमें अपेक्षाकृत अधिक शक्तिशाली, कठकीकृत और संधित चिबुकांग होते हैं । इस प्रकार का कोशित अपेक्षाकृत अधिक आदिम एन्डोप्टेरिगोटों (जैसे – न्यूरोप्टेरा, मेकाप्टेरा, ट्रिकोप्टेरा) में पाया जाता है ।

Definitive host

अंत्य परपोषी
जैविक नियंत्रण की दृष्‍टि से ऐसा परपोषी जीव जिसमें परजीव्याभ या परजीवी अपने जीवन चक्र और लैंगिक परिपक्‍वता को पूर्ण कर लेता है।

Defoliator

निष्पत्रक
ऐसे कीट जो पत्तियों या तनों के अंशों को चबाकर पौधों को अनावृत कर देते हैं । उदाहरण – पर्णभृंग, इल्लियां, कटुवा सूंडी, टिड्डा, पिस्सू भृंग आदि ।

Degradability

निम्‍नीकरणता
किसी रसायन के कम जटिल यौगिकों या तत्वों में अपघटित होने या टूट जाने की क्षमता ।

Density dependent factor

घनत्व निर्भर कारक
कीट समष्‍टि की घनत्व निर्भर मर्त्यता (mortality), जो परजीवियों / परभक्षियों, रोगजनकों और स्पर्धियों जैसे जैव कारकों के द्वारा होती है । इस प्रकार की मर्त्यता परपोषी विशिष्‍ट जैव कारकों और अंत: जातीय स्पर्धा के कारण परपोषी के उच्‍च घनत्व के समय सबसे ज्यादा होती है । इस प्रकार के जैव कारक पीड़क की अधिक संख्या होने पर उसे कम कर देते हैं तथा पीड़क के घनत्व पर आश्रित होते हैं ।

Density independent factors

घनत्व स्वतंत्र कारक
वे घनत्व स्वतंत्र अजैविक कारक जो नाशककीट समष्‍टि में मर्त्यता पैदा करते हैं जिसका समष्‍टि के आकार या उसके घनत्व से संबंध नहीं होता । मौसम परिवर्तन, अन्य प्राकृतिक आपदाएं या मानवीय कार्यकलाप, बड़े पैमाने पर होने वाले पर्यावरणीय रूपांतरण आदि अजीवीय कारक इस प्रकार की मर्त्यता का कारण बनते हैं ।

Deposit

निक्षेप
पीड़कनाशी की ऐसी मात्रा जो अनुप्रयोग के फौरन बाद जम जाती है ।

Dermal toxicity

चर्मीय आविषालुता
अविच्छिन्न त्वचा के मार्ग से शरीर में घुस जाने के फलस्वरूप होने वाली विषाक्तता । अधिकतर पीड़कनाशी अविच्छिन्न त्वचा द्वारा पूरी तरह या कुछ सीमा तक शरीर में प्रवेश कर जाते है । बहुत से पीड़कनाशी जब तक कुछ विशेष विलायकों में घुले हुए न हों, तब तक जल्दी से अवशोषित नही होते । लेकिन अनेक पीड़कनाशी ऐसे हैं जो सभी प्रकार के संरूपों में अविच्छिन्न त्वचा से घुस जाते हैं । उदाहरण – ऑर्गेनोफॉस्फेट पीड़कनाशी ।

Dermaptera

डर्माप्टेरा (चर्मपंखी गण)
प्ररूपी आदंशी मुखांग वाले लम्बे कीट जिनकी जीभिका (ligula) द्विपालिक (bilobed) होती है । अग्र पंख बहुत छोटे चर्मिल प्रवार (leathery tegmina) में रूपांतरित होते हैं जिनमें शिराएं नहीं होती, पश्‍चपंख अर्धरधन्वाकार झिल्लीमय होते हैं जिनकी शिराएं अत्यधिक रूपांतरित और अरीयत: (radially) स्थित होती है । सामान्यतया उपंखी रूप पाए जाते हैं । गुल्फ त्रि – खंडीय, लूम (cerci) असंधित और बहुत दृढ़ीकृत (sclerotize) चिमटियों में रूपातरित होते हैं । अण्डनिक्षेपक (ovipositor) लघुकृत या नहीं भी होता । कायांतरण थोड़ा सा या बिल्कुल नही होता । उदाहरण – कर्ण कीट (ईयरविग) ।

Derris species

डैरिस जातियां
रोटीनोन के जड़ युक्त पादप स्रोत जो पहले बहुत महत्वपूर्ण माने जाते थे । रोटीनोन एक प्रकार का कीटनाशी है जो अधिकतर दक्षिण अमरीका (पेरु) की लेन्कोकॉर्पस जाति से प्राप्‍त किया जाता है ।

Deutonymph

द्वितायार्भक
बरुथी (mite) का तीसरा इंस्टार (निर्मोकरूप) ।

Deutoplasm

पोषद्रव्य
कोशिका द्रव्य में अण्डे का पीतक अथवा पोषक पदार्थ ।

Diapause

उपरति
वृद्धि का धीमा होना अथवा परिवर्धन में रुकावट ।

Dictyoptera

डिक्टिओप्टेरा (जालपंखी गण)
निरवादरुप से तंतुरुपी और बहु – खंडीय श्रृंगिकाओं वाले कीट जिनके मुखांग चिबुकी (mandibulate) होते हैं । टांगें एक दूसरे के समान अथवा अग्रपाद प्रसह (raptorial); कक्षांग बड़े, गुल्फ पंच – खंडीय: अग्र – पंख लगभग मोटे प्रवार (tegmina) में रुपांतरित और सीमांत कॉस्ट शिराओं वाले होते हैं । मादाओं का अण्डनिक्षेपक लघुकृत और सातवें अधरक से छिपा रहता है: नर जननांग जटिल, असममितीय और नौंवें उदरीय अधरक द्वारा छिपा हुआ होता है जिस पर एक जोड़ी शुक (stylet) होते हैं । लूम बहुखंडीय विशिष्‍टीकृत घर्षणध्वनि अंग और श्रवण अंग नही होते, अण्डे अण्डकवच (ootheca) में होते हैं । उदाहरण – तिलचट्टा (कॉकरोच) और मेन्टिड ।

Diluent

तनुकारी
शत प्रतिशत शक्ति सम्पन्न आविषालु पदार्थ में मिलाया जाने वाला एक द्रव अथवा ठोस पदार्थ जो उसकी उग्रता कम करता है ।
< previous12Next >

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App